अभिनव बिंद्रा का जीवन परिचय | Abhinav Bindra Biography In Hindi

अभिनव 10 मीटर की एयर राइफल स्पर्धा में एक बहोत अच्छे भारतीय निशानेबाज हैं। अभिनव 2008 के बीजिंग ओलंपिक खेलों की व्यक्तिगत स्पर्धा में स्वर्ण पदक प्राप्त किया था वो तभ व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने थे। अभिनव ने क्वालीफाइंग के मैच में 596 अंक हासिल करने के बाद, अभिनव बिंद्रा का बड़ी मानसिक एकाग्रता का प्रदर्शन देकनेको मिला और अंतिम दौर में अभिनव ने 104.5 का स्कोर किया।

अभिनव बिंद्रा बायोडेटा

नामअभिनव सिंह बिंद्रा
जन्म28 सितंबर 1982
जन्म स्थानदेहरादून, भारत
पिताअर्पित बिंद्रा
माताबबली बिंद्रा
पत्नीरितु कुमारी
शिक्षाबी.बी.ए.
व्यवसायखिलाड़ी (निशानेबाज), व्यापारी
पुरस्कारपद्म भूषण, राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार, अर्जुन पुरस्कार
राष्ट्रीयताभारतीय

अभिनव बिंद्रा प्रारंभिक जीवन

अभिनव बिंद्रा का जन्म देहरादून मे 28 सितंबर 1982 को डॉ अर्पित बिंद्रा और बबली बिंद्रा के घर हुआ था अर्पित बिंद्रा एक व्यवसायी थे । अभिनय की एक बहन भी है जिसका नाम दिव्या है। और अभिनव बिंद्रा के पत्नी का नाम रितु कुमारी है।

अभिनव बिंद्रा की शिक्षा (Abhinav Bindra study)

अभिनव बिंद्रा ने कुछ वर्षों के लिए देहरादून के दून स्कूल में ही अपणी पढ़ाई की, उसके बाद में ओ पंजाब के सेंट स्टीफंस स्कूल चले गए। अभिनव ने अपनी हाई स्कूल की शिक्षा 2000 में ही पूरी की है। अभिनव बिंद्रा ने कोलोराडो विश्वविद्यालय से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में डिग्री भी की है।

अभिनव बिंद्रा ने कम उम्र से ही शूटिंग में रुचि थी और उनकी रुचि को देखते हुए, अभिनव के माता-पिता ने पटियाला में उनके घर पर एक शूटिंग रेंज स्थापित की थी। अभिनव बिंद्रा को शुरू में डॉ अमित भट्टाचार्जी और लेफ्टिनेंट कर्नल ढिल्लों ने प्रशिक्षित किया था।

अभिनव बिंद्रा शूटिंग करियर ( Abhinav Bindra Shooting Career)

1998 में जब अभिनव 15 साल की उम्र में कुआलालंपुर में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लिया था ।

वह 2000 सिडनी ओलंपिक में भारतीय दल का हिस्सा थे हालाँकि, टूर्नामेंट उनके लिए कूच अच्छा नही था क्योंकि वह क्वालीफाइंग दौर से ही बाहर हो गए थे।

2001 के म्यूनिख विश्व कप में अभिनव ने अपने प्रदर्शन से सभी का ध्यान आपणी ओर आकर्षित किया था, जब अभिनव ने 597/600 के नए जूनियर विश्वस्कोर से कांस्य पदक भी जीता था

2006 में अभिनव ने ISSF वर्ल्ड शूटिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचा था। अभिनव बिंद्रा यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले भारतीय बने थे ।

अभिनव के करियर का सबसे सुनेरा पल 2008 में बीजिंग ओलंपिक में आया था जब उन्होंने पुरुषों की 10 मीटर की एयर राइफल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था। 

2010 में अभिनव को भारत द्वारा आयोजित राष्ट्रमंडल के खेलों मे उद्घाटन समारोह मे ध्वजवाहक के रूप में चुना गया था।  इसके साथ ही अभिनव को 71 देशों के करीब सात हजार खिलाड़ियों की ओर से एथलीट कोर्ट भी दिया। 

हालांकि अभिनव बिंद्रा लंदन में 2012 के ओलंपिक में ओ अपने खिताब का बचाव नहीं कर पाए थे , लेकिन अभिनव बिंद्रा निराशाजनक 594 अंकों के साथ क्वालीफाइंग में 16 वें स्थान पर रहे थे।

2014 के ग्लासगो कॉमनवेल्थ की गेम्स में अभिनव ने शानदार वापसी भी की थी और गोल्ड मेडल जीतने में सफल भी रहे थे ।

अभिनव का 2016 मे रियो डी जनेरियो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन भी किया था, लेकिन वह आखरी दौर में शूटऑफ से चूक गए थे और ओ चौथे स्थान पर रहे। 

2016 में भारतीय ओलंपिक संघ ने अभिनव को 2016 के रियोओलंपिक खेलों के लिए भारतीय उपमहाद्वीप के सद्भावना राजदूत के रूप में नियुक्त किया गया था ।

अभिनव बिंद्रा पुरस्कार (Abhinav Bindra Trophy)

  1. 2000 में अर्जुन पुरस्कार
  2. 2001 में राजीव गांधी खेल रत्न
  3. 2009 में पद्म भूषण
  4. 2011 में भारतीय सेना द्वारा दिया गया मानद लेफ्टिनेंट कर्नल पुरस्कार

अभिनव बिंद्रा बिजनेस करियर (Abhinav Bindra Business Career)

बिंद्रा अभिनव फ्यूचरिस्टिक के CEO हैं।  इसके साथ ही अभिनव बिंद्रा ने सैमसंग, बीएसएनएल और सहारा ग्रुप से भी स्पॉन्सरशिप ली हुई है।  इसके साथ ही वह 2010 से राज्य के स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड के ब्रांडएंबेसडर के साथ फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की खेल समिति के सदस्य भी रहे थे।

abhinav bindra wife इन हिन्दी

रितु कुमारी

Abhinav Bindra net worth

around $10 million

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top